Sample Heading

Sample Heading

रागी पर वी ए एम कवक का बृहत उत्पादन

Primary tabs

रागी पर वी ए एम का बड़े पैमाने पर उत्‍पादन

 



अनुप्रयोग/उपयोग:

फसल नर्सरी और मैदानी फसलों में वीएएम इनोकुलम के रूप में उपयोग। इसके लाभ हैं पादप विकास, मृदा उपजाऊपन में सुधार, उर्वरकों की अैजविक मात्रा में कमी।

अपेक्षित निवेश :

खेत में विकास। कच्‍ची सामग्री, मृदा: रेत मिश्रण या सॉयल राइट, स्‍टाटर कल्‍चर, रागी (रागी-एल्‍यूसाइन कोराकेना)।

आउटपुट क्षमता :

प्रति वर्ग मीटर क्षेत्रफल 3 से 4 टन इनोकुलम।

विशेष लाभ :

मृदा उपजाऊपन, पादप विकास में सुधार। फास्‍फोरस की उपलब्‍धता अधिक होगी।

इकाई लागत :

रू. 3 प्रति कि. ग्रा. वीएएम उत्‍पादित किया जा सकता है। यदि हम सॉयलराइट: कोकोपीट मिश्रण का प्रयोग करते है तब लागत 15 रूपये प्रति कि. ग्रा. होगी।

विवरण :

यह मृदा आधारित इनोकुलम है। वीएएम कवक का बहुगुणन रागी की जड़ और मृदा पर किया जाता है तथा कवक के बीजाणु के साथ बस्‍तीकृत जड़ों को तोडकर कर उनका इनोकुलम के रूप में उपयोग किया जाता है।  

विकासकर्ता :

डॉ. सुखदा मोहनदास

संपर्क व्‍यक्ति :

निदेशक, भारतीय बागवानी अनुसंधान संस्‍थान, हेसरघट्टा लेक पोस्ट, बेंगलुरू- 560 089, दूरभाष: 080-28466420-24 (विस्तार 200); फैक्‍स: 080-28466291; ई-मेल: director@iihr.res.in (link sends e-mail)

संस्‍थान :

आईआईएचआर, बेंगलुरू